कोच्चि के बाद मुंबई हवाई अड्डे पर भी तृप्ति देसाई का जमकर विरोध

17 November Culture Visit (79)

सबरीमाला मंदिर में बिना दर्शन किए और लोगों के विरोध के चलते बीती रात भूमाता ब्रिगेड की तृप्ति देसाई को बैरंग मुंबई लौटना पड़ा. मुंबई एयरपोर्ट पर भी सबरीमाला मंदिर के श्रद्धालुओं ने उनका जमकर विरोध किया.

केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश का मुद्दा एक बार फिर गरमा गया है. महाराष्ट्र की महिला अधिकार कार्यकर्ता और भूमाता ब्रिगेड की संस्थापक तृप्ति देसाई इस मंदिर में प्रवेश को लेकर शुक्रवार को कोच्चि एयरपोर्ट पहुंची थीं. उनके साथ 6 महिला अधिकार कार्यकर्ता और भी थीं. तृप्ति देसाई की जिद थी कि सुप्रीम कोर्ट जब मंदिर में महिलाओं के प्रवेश की मंजूरी दे चुका है, तो क्यों प्रशासन उन्हें दर्शन की इजाजत नहीं देता.

कोच्चि एयरपोर्ट के बाहर तृप्ति के विरोध में भारी भीड़ जमा थी. हालांकि सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे. आपको बता दें कि तृप्ति देसाई ने ही शनि सिंगणापुर मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के मुद्दे पर सफल आंदोलन का नेतृत्व किया था लेकिन शुक्रवार को जिस तरह उनका विरोध किया गया, उसके चलते उनको बैरंग मुंबई वापस आना पड़ा.

तृप्ति देसाई की मानें तो केरल में न तो कोई रुकने के लिए अपना होटल देना चाहता था और न ही कोई टैक्सी. स्थानीय लोगों को ये भी डर था कि अगर तृप्ति को अपनी गाड़ी में बिठाया तो उनकी गाड़ी को तोड़ दिया जाएगा. तृप्ति देसाई ने मुंबई एयरपोर्ट के बाहर निकलने की कोशिश की तो लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया. देसाई ने आरोप लगाया है कि इस मामले को बीजेपी राजनीतिक रंग देने की कोशिश कर रही है.